235+ For the love of God shayari in hindi for engalish|भगवान के प्यार के लिए शायरी

235+ For the love of God shayari in hindi for engalish|भगवान के प्यार के लिए शायरी

bible verse for the love of god

हे प्रभु मेरी प्रार्थना को ऐसे स्वीकार करो कि,
जब-जब मेरा सिर झुके,
मुझसे जुड़े सभी लोगों की परेशानी दूर हो जाये,

O Lord, accept my prayer in such a way that,
Whenever I bow my head,
May the troubles of all the people associated with me go away,

मैंने तोड़ दी वो माला यह सोचकर कि,
गिनकर क्यों नाम लूँ उसका जो बिना गिने देता है,

I broke that garland thinking that,
Why should I count the name of the one who gives without counting,

जो कुछ है तेरे दिल में सब उसको खबर है,
बंदे तेरे हर हाल पर भगवान की नज़र है,

Whatever is in your heart is news to him,
Guys, God’s eyes are on your every condition,

दिखावे की दुनिया से दूर रहता हूँ,
भगवान की भक्ति में चूर रहता हूँ,

I stay away from the world of appearances,
I am crushed in the devotion of God,

बड़े नादान हैं वो लोग जो इस दौर मैं,
भी वफा की उम्मीद करते है,
यहाँ तो दुआ कबूल ना होने पर लोग,
भगवान तक बदल दिया करते है,

Very ignorant are the people who are in this era,
also hope for favor,
Here people do not accept the prayer,
Change up to God

भगवान से निराश कभी मत होना,
संसार से आशा कभी मत करना,

Never be disappointed with God,
Never expect from the world,

कर दिया है बेफिक्र तूने ऐ प्रभु,
अब फिक्र मैं कैसे करूँ,
फिक्र तो ये है कि तेरा शुक्र मैं कैसे करूँ,

You have made me careless, O Lord,
Now how do I care
The concern is that how can I thank you,

भक्ति एवं प्रार्थना परमात्मा का मोबाईल नंबर है,
करते रहिये कभी तो भगवान को सुनेंगे,

Devotion and prayer is the mobile number of God,
Keep doing it, sometime you will listen to God,

सच्चा प्यार और परमात्मा एक जैसे ही होते हैं,
जिसके बारे में बातें सभी करते हैं,
लेकिन महसूस बहुत कम ही लोग करते हैं,

True love and God are one and the same,
about which everyone talks,
But very few people feel

जब हम गेहूँ का एक दाना बोते हैं,
तो कुछ समय बाद वोहमें हजार दाने के रुप में वापिस मिलता है,
कर्म का भी बिलकुल ऐसा ही है,
अच्छे कर्मों का फल हमें ईश्वर भी ऐसे ही देते है,

When we sow a grain of wheat,
So after some time it comes back to us in the form of thousand grains,
The same is true of karma.
God gives us the fruits of good deeds in the same way.

Leave a Reply

Your email address will not be published.