111+ Haldi rasm ki shayari in hindi with|हल्दी रस्म की शायरी

111+ Haldi rasm ki shayari in hindi with|हल्दी रस्म की शायरी

Haldi rasm ki shayari

मैं तो कब से लगाकर बैठी हूँ,तुम्हारे नाम की मेहंदी,
और चेहरे पर हल्दी,तुम बारात ले आओ जल्दी

Since when have I been sitting with your name’s mehndi,
And turmeric on the face, you bring the procession soon,

हांथो में मेंहदी जिस्म पे हल्दी लगाए हो,
क्या थक गए हो हमसे या,
अब किसी और पे दाव लगाए हो,

Henna in the hands, turmeric is applied on the body,
Are you tired of us or,
Now bet on someone else,

रंग चढ़ा के हल्दी का,इंतज़ार है तुझसे मिलने का,
अंग अंग पीला हो गया है,बस अब इंतज़ार है,
तेरे साथ लाल होने का,

The color of turmeric has risen, I am waiting to meet you,
The limb has turned yellow, just waiting now,
To be red with you

लगा कर मेहंदी हाथों में,किसी और के नाम की बाबा,
मैं क्यों आपकी अपनी नही रह गई,क्यों हल्दी के रंग से,
मैं किसी और की हो गई,

By applying mehndi in hands, Baba of someone else’s name,
Why I am not your own, why with the color of turmeric,
I became someone else

कल रात हम चकना-चुर हो गए,
की हमारे ख्वाबों में उनकी हल्दी हो रही थी,
कल पहली दफा था जब,
हमे ख्वाब तोड़ने की जल्दी हो रही थी,

We were shattered last night,
That he was getting turmeric in our dreams,
Yesterday was the first time when,
We were in a hurry to break our dreams,

आ तुझे मैं अपने रंग में रंग दूं,
नए सफर का रंग चढ़ा दूं,
शादी से पहले तुझे हल्दी में रंग दूं,
तुझे मैं अपनी जिंदगी का हर रंग बना दूं,

Come let me paint you in my color,
Let me paint the new journey,
Let me paint you in turmeric before marriage,
Let me make you every color of my life,

हमारी मोहब्बत का आज रंग निखार आया है,
हम दोस्त चाहने वालों ने आज हमें,
हल्दी लगाया है,

Today the color of our love has brightened,
We friends loved us today,
turmeric applied,

फीके पड़ गए हैं मेरे रंग,
इसलिए हल्दी लगाई जा रही है,
तेरे नाम के रंगों को चढाने की,
शुरुआत की जा रही है,

My colors have faded
That’s why turmeric is being applied,
To bring the colors of your name,
being started,

आज सुबह सूरज के जगह,
चाँद नज़र आ रहा था,
गालों पर हल्दी लगाकर,
सूरज की तरह पिला नज़र आ रहा था,

Instead of the sun this morning,
the moon was visible,
By applying turmeric on the cheeks,
looked pale like the sun,

चलो अच्छा हुआ हल्दी का रंग मुझ पर,
चढ़ा नहीवरना ये भीनी-भीनी सी,
खुशबू मेरी जान ले जाती,

Let the color of turmeric be good on me,
Don’t climb up or else it’s too thin,
Fragrance would take my life,

Leave a Reply

Your email address will not be published.