111+ Haldi rasm ki shayari in hindi with|हल्दी रस्म की शायरी

111+ Haldi rasm ki shayari in hindi with|हल्दी रस्म की शायरी

how do you wish haldi ceremony

मुनाफा ही होता है रिश्तों के व्यापार में,
हमारी आँखे होंगी आपकी इन्तजार में,
हम नई जिन्दगी शुरू करने वाले है,
प्यार मांगेंगे आपका आशीर्वाद मे,

Profit is only in the business of relationships,
Our eyes will be waiting for you,
We are about to start a new life,
Will ask for love in your blessings,

रसगुल्ले खाके पूड़ी भजिये खाके कॉफ़ी,
पीके जाना जी हमारे प्यारे मामा चाचा,
की शादी में ज़रूर ज़रूर आना जी,

Eat rasgulla and eat poori, eat coffee,
PK Jana ji our dear uncle uncle,
Surely you must come to the wedding,

मेहरबानी होगी आपकी मुस्कान दिख जाए,
चेहरे पर सजे आपके पैगाम दिख जाए,
पर्दो में न छिपाओ आंखों का तुम काजल,
काश के मेहंदी में तुम्हारी हमारा नाम दिख जाए,

It would be a blessing to see your smile,
Let your message be seen on your face,
Do not hide in the curtains, you mascara of the eyes,
I wish your name can be seen in the Mehndi of yours.

वो जो सर झुका के बैठे है,
हमारा दिल चुराये बैठे है,
हमने उनसे कहा हमारा दिल हमे लौटा दो,
तो बोले हम तो हाथो में,
मेहँदी लगा के बैठे है,

He who is sitting with his head bowed,
Stole our hearts
We told them return our heart to us,
So said we are in hands,
Mehandi is sitting,

सु-र्ख़रू होता है इंसाँ ठोकरें खाने के,
बाद रंग लाती है हिना पत्थर पे,
पिस जाने के बाद,

Su-rukhru happens to eat human stumbling,
After that, henna brings color on the stone,
after being crushed,

उजलीउजली धूप की रंगत,
भी फ़ीकी पड़ जाती है,
आसमान के हाथों जब शाम,
की मेहंदी रच जाती है,

bright sunshine,
also fades,
When evening at the hands of the sky,
that mehndi is made,

इन हाथों में लिख के मेहँदी,
से सजना का नाम,
जिसको मैं पढ़ती हूँ सुबह शाम,

Write mehndi in these hands,
From the name of Sajna,
Which I read in the morning and evening,

कैसे भूल जाऊँ मैं उसको,जो चाहता है इस कदर,
हथेली की मेहंदी में लिखा है,उसने मेरा नाम छिपाकर,

How can I forget the one who wants so much
It is written in the mehndi of the palm, He hid my name,

हाथों की मेहंदी गालों पर,
निखर कर आई हैं,
तेरे लबों की लाली ने यह,
महफ़िल सजाई हैं,

Hand henna on cheeks,
have shined,
The redness of your lips made this,
The gathering is decorated,

वो जो सर झुकाए बैठे हैं,
हमारा दिल चुराए बैठे हैं,
हमने कहा हमारा दिल लौटा दो,
वो बोली हम तो हाथो में मेहँदी,
लगाये बैठे हैं,

Those who are sitting with their heads bowed,
Stole our hearts
We said return our heart,
She said that we have henna in our hands,
are sitting,

Leave a Reply

Your email address will not be published.