165+ Best Masoom chehra shayari in hindi|मासूम चेहरा शायरी इन हिंदी

165+ Best Masoom chehra shayari in hindi|मासूम चेहरा शायरी इन हिंदी

मासूम लड़का स्टेटस

हुस्न की मासूमियत,
थोड़ी सी कम कर द,
वरना मेरी निगाहों को
तेरा गुनहगार बनने दें,

मासूम की निगाहें भी क़यामत से कम नही,
के जो बरस जाए जंग के मैदान पर,
मैदान भी मंदिर बन जाय करते हैं,

आँख से आँसू न गिरे, तो कविता कैसी,
चेहरे पे मुस्कान न आये, तो कविता कैसी,

बुरा और भला पहचानने में मासूमियत खो गई,
जब वो मतलबी इंसान जाग गया,
तो इंसानियत सो गई,
जाने कहाँ मासूमियत खो गई,

बैठ जाता हूं ,मिट्टी पे अक्सर,
क्योंकि मुझे अपनी औकात अच्छी लगती है,

तेरा चेहरा आज भी मासूम है,
आज भी मेरी चाहत में वही सुकून है,
तेरे चेहरे पे एक मुस्कान के लिए,
जान भी बार दे ऐसा मेरा जूनून है,

झूठ भी बोलते हैं वो कितनी मासूमियत से,
जानकर भी अंजान बनने को जी चाहता है,

माना मुसीबत का बाजार है,
तूझे तोड़ने वाले लोग हजार है,
सब सामना करना तूझे ही है,
लेकीन अपनी मासुमीयत बचा रखना,

मासूमियत तुझमे है,पर तू इतना मासूम भी नहीं,
की मैं तेरे कब्जे में हूँ,और तुझे मालूम भी नहीं,

न जाने क्या मासूमियत है तेरे चेहरे पर,
तेरे सामने आने से ज़्यादा तुझे छुपकर
देखना अच्छा लगता है,

Leave a Reply

Your email address will not be published.